आशा पारेख को दिया जाएगा दादा साहब फाल्के अवॉर्ड, केंद्रीय मंत्री ने किया ऐलान

आशा पारेख को दिया जाएगा दादा साहब फाल्के अवॉर्ड, केंद्रीय मंत्री ने किया ऐलान

वयोवृद्ध अभिनेत्री आशा पारेख को वर्ष 2022 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक्ट्रेस के जन्मदिन से कुछ दिन पहले इस बात का ऐलान किया था. वैसे तो आशा पारेख ने अभिनय से संन्यास ले लिया है। लेकिन 60 और 70 के दशक में आशा पारेख का नाम उस समय की बेहतरीन अभिनेत्रियों में शुमार था. आशा पारेख अपने समय में पर्दे पर सबसे ज्यादा कमाई करने वाली अभिनेत्री थीं। आपको बता दें कि 1992 में सिनेमा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

आपको बता दें कि आशा पारेख का जन्म 2 अक्टूबर 1942 को गुजरात के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। आशा पारेख ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1952 में फिल्म ‘आसमान’ से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट की थी। एक अभिनेत्री के रूप में आशा पारेख की पहली फिल्म ‘दिल देके देखो’ थी, जो एक बड़ी सफलता थी। लगभग 80 फिल्मों में बतौर एक्ट्रेस काम करने वाली आशा पारेख की सभी फिल्मों को खूब पसंद किया गया. जिसमें ‘जब प्यार किसी से होता है’, ‘घराना’, ‘भरोसा’, ‘मेरे सनम’, ‘तीसरी मंजिल’, ‘दो बदन’, ‘उपकार’, ‘शिकार’, ‘साजन’, ‘आन मिलो सजना’ शामिल हैं।

आशा पारेख ने कभी शादी नहीं की लेकिन निर्देशक नासिर हुसैन के साथ उनके अफेयर की काफी चर्चा रही। नासिर हुसैन आमिर खान के चाचा हैं। नासिर हुसैन से शादी न करने की बात पर आशा पारेख ने एक इंटरव्यू में कहा कि वह कभी नहीं चाहती थीं कि नासिर हुसैन उनके परिवार से अलग हो जाएं, इसी वजह से उन्होंने शादी नहीं की. आशा पारेख की छवि एक ऐसी अभिनेत्री की है जिस तक पहुंचना या मिलना आसान नहीं है और शायद यही वजह है कि कभी किसी ने शादी के लिए उनका हाथ नहीं मांगा।

टेलीविजन धारावाहिकों का निर्देशन और निर्माण करने के लिए आशा ने 1995 में अभिनय से संन्यास ले लिया। आशा पारेख को 2002 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड मिला। इसके अलावा, उन्हें कई आजीवन उपलब्धि पुरस्कार भी मिले हैं: 2004 में कलाकार पुरस्कार; 2006 में अंतर्राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार; 2007 में पुणे अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह पुरस्कार; और 2007 में लॉन्ग आइलैंड, न्यूयॉर्क में 9वां वार्षिक बॉलीवुड पुरस्कार। इतना ही नहीं, उन्हें फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) से लिविंग लीजेंड अवॉर्ड भी मिल चुका है।

Bolly News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *